इस विनती में लिखा है ये रहस्य जो आपके लिये जानना ज़रूरी है: बाबाजी

Radha Soami- सन्तों के अनुसार सकारात्मक मनोवृति हो तो यह संसार हमारे लिए खुशी का स्त्रोत बन जाता है। और इस विनती में उस रहस्य को लिखा गया है और हमें हर चीज में प्रभु की रज़ा काम करती दिखाई देती है। और हम उसकी रचना के द्वारा उसकी भक्ति करने लगते हैं। प्रभु के प्रति अपनी अपार श्रद्धा और भाव प्रकट करते हुए रहना चाहिए।

सब्सक्राइब करें- Radhasoami shabad

संसार की हर चीज़ में है ये शामिल

हे सर्वोच्च, सर्वशक्तिमान, परमपिता! तेरी महिमा अपरंपार है।

हे प्रभु! प्रशंसनीय है तू और तेरी रचना विशेषकर हमारा भाई सूर्य जो हमारे लिए दिन और प्रकाश लाता है; कितना सुंदर है वह, कितना तेजस्वी है वह, कि उसे देखकर हे प्रभु! हमें तेरी याद आती है! हे प्रभु, प्रशंसनीय है बहन चंद्रमा और तेरे सितारे जो आकाश में चमकते हुए प्यारे लगते हैं।

हे प्रभु! प्रशंसनीय है तेरी हवाएं मंद-मंद चलती हवा और बादल और हर प्रकार के मौसम जिनसे सभी जीवो का पोषण होता है।

हे प्रभु! प्रशंसनीय है तेरा जल जो हमारे लिए अत्यंत उपयोगी है, जो विनम्र, मूल्यवान और पावन है। हे प्रभु, प्रशंसनीय है अग्नि जो अंधकार में प्रकाश लाती है जो अति सुंदर, हर्षित, शक्तिशाली और मजबूत है। हे प्रभु! प्रशंसनीय है यह धरती मां जो हमें अपनी गोद में रखती है, हमारा पालन करती है। और हमें तरह-तरह की जड़ी-बूटियां, फल और रंग-बिरंगे फूल देती है।

बाबा गुरुविंदर सिंह जी

हे प्रभु, प्रशंसनीय है वे लोग जो तेरे नाम पर एक-एक को क्षमा कर देते हैं और बर्दाश्त करते हैं कमजोरियों और दुखों को। वे बहुत भाग्यशाली हैं जो शांत रहते हैं क्योंकि आप उन्हें बहुत ऊंचा स्थान देंगे।

हे प्रभु, प्रशंसनीय है मौत जिससे कोई जीवित प्राणी बच नहीं सकता। भाग्यशाली है वे जो सदा रज़ा मे राजी रहते हैं क्योंकि मौत उन तक दोबारा नहीं पहुंच पाएगी। हे प्रभु, आभारी हैं हम तेरे और हमेसा प्रसन्नता से, विनम्रता से, अपने आप को समर्पित करते हैं तुझे!

इस विनती में लिखी है ये खास बात

हमें भी इस शब्द, विनती को ध्यान में रखते हुए इस पर अमल करना चाहिए। परमात्मा की बनाई गई हर वह चीज हमारे लिए बहुत आदरणीय, प्रशंसनीय है जो परमात्मा ने हमें दी है। हमें परमात्मा को कण-कण में समझना चाहिए क्योंकि परमात्मा कण-कण में मौजूद है। हर जगह मौजूद हमें परमात्मा से जो मिला है। हम उसका शुक्रिया अदा करते रहना चाहिए और जिस काम के लिए इस धरती पर आए हैं उसको पूरा करना हमारे लिए बहुत जरूरी है। हमें भजन-सुमिरन करना है प्रभु को प्राप्त करना है।

।।राधास्वामी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *