बुरे कर्मों से बचना है तो ये बात याद रखो, साथ में करो ये काम: संतमत

Radha soami-संतमत में साफ-साफ कहा है कि बुरे कर्मों से बचना है तो ये बात याद रखो, साथ में यह काम करो। संतमत में बताया गया है कि भाई बुरे कर्मों का फल तो भुगतना ही पड़ेगा और यह भी नहीं सोचना कि जो कर्म अब किए हैं उनका अगले जन्म में भुगतना करना पड़ेगा। संतमत के अनुसार बुरे कर्मों का नतीजा इसी जन्म में सामने आ जाता है।

बुरे कर्मों का परिणाम कैसे कम करें?

अब बात आती है कि अगर हमने बुरे कर्म किए हैं तो उनका परिणाम कैसा होगा? संतमत के अनुसार अगर बुरे कर्म किए हैं तो उनका बुरा नतीजा होगा और अच्छे कर्म किए हैं तो अच्छा परिणाम होगा। अब यह बात भी आती है कि अगर हमने बुरे कर्म किए हैं तो उन बुरे कर्मों का परिणाम जो होगा उनको हम कैसे कम कर सकते हैं। उनके कष्टों से हम कैसे बच सकते हैं। इस बारे में विचार करना बहुत जरूरी है।

सब्सक्राइब करें। राधास्वामी जी

बुरे कर्मों का परिणाम नहीं देखना तो करें ये काम

बाबाजी बताते हैं कि अगर बुरे कर्मों का परिणाम नहीं देखना चाहते तो किसी पूर्ण संत की शरण में जाओ। उनसे नामदान की युक्ति प्राप्त करो और नियम अनुसार भजन-सुमिरन पर जोर दें। ताकि बुरे कर्मों का बोझ कुछ कम हो जाये। ये तो पक्का है कि कर्मों का फल भुगतान तो ज़रूर पड़ेगा।

बाबाजी

संतमत में यूँ पता नहीं चलता कर्मों का

कर्मों का भुगतान हर जीव को करना पड़ता है। कोई हंस कर कोई रो कर भुगतान करता है। संत बताते हैं अगर किसी पूरे गुरु की शरण मे चले जाएं तो कर्मों का बोझ बहुत कम हो जाएगा। नामदान में इतनी शक्ति होती है जिससे इन सब कर्मों का पता नही चलता और अपने कर्म कट जाते हैं। तो गुरु की खोज करो और अपने मनुष्य जन्म का लाभ उठाओ।

।।राधास्वामी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *